पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान अम्फान (Cyclone Amphan) तबाही के गहरे निशान छोड़ गया है। सबकुछ अस्त व्यस्त है। कोरोना (Coronavirus) के बीच इस तबाही ने लोगों की जिंदगी को झकझोर कर रख दिया है।

Edited By Himanshu Tiwari | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

ममता बनर्जी ने किया ट्वीट

कोलकाता

चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ (Cyclone Amphan) ने बंगाल (West Bengal) को कोरोना वायरस के बीच एक गहरे जख्म के साथ सुन्न कर दिया है। लोगों के दिलों में बहुत कुछ मिट जाने की टीस है। सब बियाबान सा है। इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने एक ट्वीट किया है। वह लिखती है कि साइक्लोन अम्फान हमारे विचारों पर तबाही के गहरे निशान छोड़ गया है। जबकि चीजों का भी खूब नुकसान हुआ है। इस तबाही के बीच बंगाल एकजुट होकर खड़ा है। हम एकसाथ मिलकर इन स्थितियों से बाहर निकलेंगे क्योंकि कुछ भी बंगाल के लोगों के उत्साह और ताकत को कमजोर नहीं कर सकता है।

यही नहीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने बताया है कि पश्चिम बंगाल में अभी तक 72 लोगों की मौत हो चुकी है। ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने ऐसी भयानक तबाही कभी नहीं देखी है।

हजारों घरों को पहुंचा नुकसान

ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से अपील की है कि वह पश्चिम बंगाल आएं और तबाही का मंजर अपनी आंखों से देखें। ‘अम्फान’ तूफान के चलते राज्य में हजारों घरों को नुकसान पहुंचा है। लगभग छह लाख लोगों को उनके घरों से निकालकर सुरक्षित बचाया गया है।

भारी बारिश ने बहाई दर्जनों की गृहस्थी

  • भारी बारिश ने बहाई दर्जनों की गृहस्थी

    भारी बारिश और 190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ अम्फान बुधवार दोपहर ढाई बजे पश्चिम बंगाल के दीघा तट पर पहुंचा। इसके बाद राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश और तूफान आया।

  • फिर से घर बनाने में जुटे लोग

    अम्फान से क्षतिग्रस्त हुए अपने घर के मलबे से गृहस्थी का सामान निकालने के बाद एक शख्स ने शुक्रवार को फिर से घर बनाने के काम शुरू किया।

  • उड़ी खपरैल वाले घरों की छतें

    पश्चिम बंगाल के उत्तर और दक्षिण 24 परगना जिलो में चक्रवात के कारण भारी बारिश और तूफान आने से खपरैल वाले मकानों के ऊपरी हिस्से तेज हवाओं में उड़ गए, पेड़ एवं बिजली के खम्भे उखड़ गए और निचले शहरों एवं गांवों में पानी भर गया

  • उठीं ज्वारभाटा की ऊंची लहरें

    कोलकाता में 125 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं ने कारों को पलट दिया। सुंदरवन डेल्टा के तटबंध इस चक्रवात के कारण टूट गए। दीघा और सुंदरवन में ज्वारभाटा की ऊंची लहरें उठती नजर आईं। राज्य सरकार ने पांच लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है।

  • 'कोरोना से ज्यादा भयंकर अम्फान'

    अम्फान ने बंगाल में भारी तबाही मचाई है। ममता बनर्जी ने कहा कि अम्फान का प्रभाव कोरोना वायरस से भी ज्यादा भीषण है।

बंगाल आकर तबाही का मंजर देखें पीएम मोदी: ममता



मुआवजे का ऐलान

‘अम्फान’ के बारे में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके ममता बनर्जी ने कहा, ‘अभी तक पश्चिम बंगाल में 72 लोगों की मौत हो चुकी है। मैंने आज तक ऐसी तबाही नहीं देखी है। मैं प्रधानमंत्री से अपील करूंगी कि वह बंगाल आएं और हालात देखें। जिन लोगों की मौत हुई है, उनके परिवार को 2.5 लाख का मुआवजा देने का ऐलान करती हूं।’

पश्चिम बंगाल में 'अम्फान' छोड़ गया तबाही का ये मंजरपश्चिम बंगाल में ‘अम्फान’ छोड़ गया तबाही का ये मंजरकोलकाता समेत पश्चिम बंगाल के कई इलाकों में चक्रवाती तूफान अम्फान ने भारी तबाही मचाई। जानकारी के मुताबिक, इसके चलते कम से कम 12 लोगों की मौत हो चुकी है। हजारों मकान नष्ट हो गए हैं और कई निचले इलाकों में पानी भर गया है।
Web Title west bengal chief minister mamata banerjee says cyclone amphan has left a trail of devastation beyond our thoughts(News in Hindi from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here