कोरोना एप से लैस होकर तैयार हुआ कॉरपोरेट सेक्टर-Reliance, हीरो मोटोकॉर्प, मारुति ने बनाए इनहाउस APP

रिलायंस इंडस्ट्रीज, मारुति सुजुकी और हीरो मोटोकॉर्प जैसी दिग्गज कंपनियों के कर्मचारियों के लिए कंपनियों ने नए इन-हाउस हेल्थ एंड वैलनेस एप्लीकेशन विकसित किये हैं.

नई दिल्लीः देश का कॉर्पोरेट सेक्टर एक बार फिर से काम पर लौटना शुरू हो गया है. लेकिन, इस बार कॉर्पोरेट सेक्टर में दाखिल होने से पहले कर्मचारियों को कई नए बदलाव देखने को मिल रहे हैं. कॉर्पोरेट सेक्टर अलग अलग कोरोना एप से लैस होकर काम पर लौट रहा है. मारुति सुजुकी, हीरो मोटोकॉर्प और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी दिग्गज कंपनियों के कर्मचारियों के लिए कंपनियों ने नए इन-हाउस हेल्थ एंड वैलनेस एप्लीकेशन विकसित किये हैं. कोरोना काल में सभी कर्मचारियों को अपनी-अपनी कंपनियों के ये इंटरनल एप्लीकेशन डाउनलोड करना अनिवार्य है. इन एप्लीकेशन पर अपने और अपने परिवार संबंधित तमाम स्वास्थ्य जानकारियां रोज़ाना देना अनिवार्य किया गया है.

मारुति सुजुकी

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी की निर्माण इकाई शुरू हो चुकी हैं. ऐसे में कंपनी ने अपने कर्मचारियों की सेहत को रियल टाइम आधार पर मॉनिटर करने के लिए “वैलनेस मित्र एप” विकसित किया है. इसी एप में सरकार का “आरोग्य सेतु” एप डाउनलोड करने का लिंक भी दिया गया है. कंपनी के 34,000 से ज़्यादा कर्मचारी इस एप का इस्तेमाल कर रहे हैं. इसके अलावा एक ऐसा ही एप मारुति ने अपने सभी डीलर्स और वेंडर्स के लिए भी विकसित किया है. इन एप में कंपनी के सभी कर्मचारी अपनी और अपने परिवार की सेहत का ब्यौरा रोज़ाना अपडेट करते हैं. हर कर्मचारी का बॉडी टेम्परेचर इस एप में रोज़ाना रिकॉर्ड किया जाता है जिसकी बारीकियों पर सभी रिपोर्टिंग मैनेजर नज़र रखते हैं. इसी एप्लीकेशन के जरिये ज़रूरत पड़ने पर कर्मचारी “इमरजेंसी मेडिकल सपोर्ट” भी हासिल कर सकते हैं. जो कर्मचारी कम से कम 14 दिनों तक अच्छी सेहत रिपोर्ट करेंगे, उन्हें ही काम पर आने की इजाज़त होगी. इस बारे में मारुति सुजुकी के मेंबर एग्जीक्यूटिव बोर्ड (HR, IT and Safety) राजेश उप्पल ने बताया कि कर्मचारियों की सुरक्षा हमारी प्रमुख प्राथमिकता है और इसे देखते हुए ही हमने “वैलनेस मित्र” एप विकसित किया है जो आरोग्य सेतु एप को कॉम्पलिमेंट करता है. उन्होंने कहा कि यह एप्लीकेशन कंपनी ने इन हाउस ही विकसित किया है. इसके जरिए देशभर में सभी लोकेशन पर कंपनी के सभी कर्मचारियों की स्वास्थ्य की लॉग शीट मेंटेन करने में मदद मिलती है.

हीरो मोटोकॉर्प

देश की सबसे बड़ी दुपहिया वाहन निर्माता कंपनी हीरो मोटोकॉर्प ने भी अपने तमाम कर्मचारियों के लिए एक ऐसा ही इनहाउस एप्लीकेशन विकसित किया है. हीरो मोटोकॉर्प के चीफ एचआर ऑफिसर विजय सेठी ने बताया कि हमने अपना व्यापार दोबारा खोलने से पहले हीरो एम्पलाई एप में एक नया टैब जोड़ा है. इस टैब के जरिए हर कर्मचारी को अपनी सेहत के बारे में सेल्फ डिक्लेरेशन देना होगा. इसके अलावा रोजाना अपडेट भी देना होगा. हीरो एंप्लॉय ऐप में बायोमैट्रिक अटेंडेंस सिस्टम की बजाए ऐप के जरिए ही अपनी अटेंडेंस लगानी होगी. इसके अतिरिक्त हमने “हीरो होप” के नाम से एक नया इन हाउस एप्लीकेशन विकसित किया है. इस ऐप का मकसद है कि इस महामारी के दौरान सभी कर्मचारी स्वस्थ लाइफस्टाइल बनाए रख सके. इसके अलावा कंपनी ने कई और कदम उठाए हैं. इनमें से ही एक कदम है 24 ×7 मेडिकल टेलीकंसल्टेशन सेवा का. इसके तहत कंपनी के सभी कर्मचारी 11 स्थानीय भाषाओं में डॉक्टर से परामर्श ले सकते हैं.

रिलायंस इंडस्ट्रीज

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने अपने सभी कर्मचारियों और उनके परिवारों के लिए “माय जियो” एप विकसित किया है. कंपनी के प्रवक्ता ने बताया कि इस ऐप के जरिए सभी कर्मचारियों और उनके परिवार की सेहत को मॉनिटर किया जा रहा है. प्रवक्ता ने बताया कि यह एक सेल्फ डायग्नोस्टिक टूल है जिसके जरिए कर्मचारी यह चेक कर सकते हैं कि उन्हें कोविड-19 के लक्षण तो नहीं है और क्या उन्हें हेल्थ सेंटर जाने की जरूरत तो नहीं है. इस एप्लीकेशन के जरिए आईसीएमआर अधिकृत सभी टेस्टिंग सेंटर की सूची भी मुहैय्या हो जाती है. कंपनी का एचआर डिपार्टमेंट सभी कर्मचारियों के डेटा को रोज़ाना मॉनिटर कर रहा है.

ये भी पढ़ें

TDS में वित्त मंत्री ने की 25 फीसदी कटौती, जानिए क्या होता है टीडीएस और कैसे मिलेगा इसका फायदा

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here