नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

केंद्र सरकार ने राज्यों को अधिकार दिया है कि वो अपने अनुसार तय करें कि उनके प्रदेश की स्थिति क्या होनी चाहिए। जिसके बाद हर राज्य अपने-अपने यहां की कोरोना स्थिति को देखते हुए नियम तय करने में जुटा हुआ है। राज्य सरकार ही अपने विवेकानुसार तय करेंगी कि उनके प्रदेश का कौन सा इलाका किस जोन में जाएगा। केंद्र सरकार ने साफ किया कि प्रदेश की सीमाएँ भी वहां की सरकारें की तय करेंगी कि उनके सीमा में कोई दूसरे प्रदेश का वाहन या यात्री आ सकते हैं या नहीं।

किस राज्य ने क्या बंद रखा, क्या खोला

NBT

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मानकों के मुताबिक राज्य सरकारें अपने यहां रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन तय करेंगी। रेड जोन और ऑरेंज जोन के भीतर जिले के अधिकारी कंटेनमेंट जोन और बफर जोन तय करेंगे। कंटेनमेंट जोन में केवल जरूरी गतिविधियों की ही अनुमति होगी। इन इलाकों में लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाएगा और किसी भी व्यक्ति को वहां से किसी को आनेजाने की अनुमति नहीं होगी।

​कर्नाटक में कितनी छूट

NBT
  • सिर्फ रविवार को राज्य में पूरी तरह लॉकडाउन
  • राज्य के अंदर ट्रेन सर्विस को मंजूरी
  • सरकारी और प्राइवेट बसें चलेंगी
  • एक बस में सिर्फ 30 यात्रियों को मंजूरी, मास्क और सोशल डिस्टेंस जरूरी
  • सभी दुकानों को खोलने की छूट
  • गुजरात, महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु के लोगों को एंट्री नहीं
  • ऑटो और टैक्सियों को मंजूरी, चालक को मिलाकर कुल तीन बैठेंगे
  • बड़ी कैब में चालक सहित चार लोग यात्रा कर सकते हैं
  • पार्क सुबह सात बजे से नौ बजे तक और शाम पांच बजे से शाम सात बजे तक खोले जाएंगे
  • होम क्वारंटाइन पर सख्ती

(ये सभी नियम 31 मई तक के लिए लागू)

​केरल में 20 मई से छूट

NBT
  • बस सर्विस शुरू (हॉटस्पॉट में नहीं)
  • बस दूसरे राज्य या दूसरे जिले नहीं जाएगी
  • होम डिलिवरी से शराब मिलेगी
  • नाई की दुकान खुलेंगी, ब्यूटी सलून बंद
  • स्कूल, कॉलेज अभी बंद, एग्जाम पोस्टपोन
  • एक जिले से दूसरे जिले में जाने के लिए पास

(ये सभी नियम 31 मई तक के लिए लागू)

महाराष्ट्र में लगातर बढ़ रहे हैं मामले

NBT

महाराष्ट्र में कोरोना तेजी से बढ़ता जा रहा है। अब सीएम उद्धव क्या फैसला लेते हैं ये देखना होगा।

यूपी में क्या खुला क्या बंद

NBT

अभी फिलहाल कोई गाइडलाइंस जारी नहीं हुई है। कुछ ही देर में साफ हो जाएगा कि यूपी में क्या खुला है और क्या बंद।

केजरीवाल दिल्ली खोलने के पक्ष में

NBT

सीएम केजरीवाल अपनी मंशा पहले भी जाहिर कर चुके हैं। उनका कहना है कि धीमें-धीमे दिल्ली को खोलना चाहिए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here