सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को पीएम मोदी के साथ अपनी दो तस्वीरें एक कविता के साथ शेयर कीं। उनके इस ट्वीट के बाद से ही यूपी की सियासत में बयानबाजी का दौर शुरू हो गया। साफ है कि दोनों नेताओं की बॉन्डिंग की ये तस्वीरें अपने मकसद में कामयाब होती दिखी हैं। बीते कुछ महीने पहले सीएम योगी आदित्यनाथ को लेकर तमाम तरह के कयास चल रहे थे। ऐसे में अब इन तस्वीरों से उन पर लगाम लगेगी। इसके अलावा यूपी में मतदाताओं के बीच भी भाजपा ने इन तस्वीरों के जरिए संदेश देने का काम किया है कि योगी आदित्यनाथ से पीएम नरेंद्र मोदी की बहुत अच्छी बॉन्डिंग है। यह योगी के कद के साथ ही यूपी में चुनावी संभावनाओं को भी बढ़ाने वाला है।

बीते कुछ महीनों में पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह और जेपी नड्डा समेत कई शीर्ष नेताओं ने सीएम योगी आदित्यनाथ की खुलकर तारीफ की है। कोरोना संकट से निपटने में सीएम योगी आदित्यनाथ के योगदान की सभी ने तारीफ की थी। इसके अलावा अलीगढ़, सुल्तानपुर, महोबा और झांसी जैसे इलाकों में रैलियों के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने उनकी जमकर तारीफ की थी। इससे लीडरशिप ने यह संकेत देने का काम किया है कि योगी का फिलहाल यूपी में ही नहीं बल्कि भाजपा में भी प्रदेश में कोई विकल्प नहीं है। सीएम योगी ने अपने कार्यकाल के दौरान कानून व्यवस्था को बनाए रखने को लेकर काफी तारीफ बटोरी है। 

अब पीएम नरेंद्र मोदी से बढ़िया केमिस्ट्री का संदेश देने वाली इन तस्वीरों ने इन कोशिशों को और धार दी है। इससे पहले दिल्ली में हुई भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव पेश करने का मौका सीएम योगी आदित्यनाथ को दिया गया था। इससे उनका कद राष्ट्रीय स्तर का होने की बात कही जाने लगी थी। भाजपा समर्थकों का एक बड़ा वर्ग है, जो पीएम नरेंद्र मोदी के बाद सीएम योगी को उनके विकल्प के तौर पर देखता है। उत्तर प्रदेश में अकसर ही पीएम नरेंद्र मोदी के साथ योगी के नारे सुनने को मिलते हैं। ऐसे में ये तस्वीरें इनकी पुष्टि करने वाली हैं।

सीएम योगी की कविता ने भी दिए संकेत

यही नहीं तस्वीरों के साथ शेयर की गई सीएम योगी आदित्यनाथ की कविता भी बड़ा संकेत देती है। सीएम योगी ने कविता में लिखा, ‘हम निकल पड़े हैं प्रण करके, अपना तन-मन अर्पण करके। जिद है एक सूर्य उगाना है, अम्बर से ऊँचा जाना है। एक भारत नया बनाना है।’ ये पंक्तियां भी पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी की बॉन्डिंग का ही संकेत देती हैं। उत्तर प्रदेश जैसे राज्य का मुख्यमंत्री बनने के बाद किसी भी नेता के दिल्ली जाने की चर्चाएं आम बात हैं। सीएम योगी के चेहरे पर लड़े जा रहे इस चुनाव में यदि भाजपा को सफलता मिलती है तो फिर ऐसी चर्चाएं शुरू हो सकती हैं। ऐसे में ये तस्वीरें भविष्य की जमीन भी तैयार करती दिखती हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here