मशहूर पत्रिका टाइम ने 100 प्रभावशाली लोगों की सूची जारी की है। इस सूची में तालिबान के सह-संस्थापक और अफगानिस्तान के मौजूदा उप प्रधानमंत्री मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को भी शामिल किया गया है। मैग्जीन ने बरादर को करिश्माई मिलिट्री लीडर बताया है। इतना ही नहीं टाइम ने बरादर को ‘गहरा पवित्र शख्स’ बताया है। बुधवार को टाइम ने साल 2021 के 100 सबसे प्रभावशाली शख्सियतों की सूची जारी की है। इस लिस्ट में पूरी दुनिया से जुड़े बड़े नेताओं और अन्य शख्सियतों को शामिल किया गया है। 

सूची में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन, उप राष्ट्रपति कमला हैरिस, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के अलावा पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को भी शामिल किया गया है। बरादर को जिस कैटेगरी में प्रभावशाली लोगों में शामिल किया गया है उसमें जो बाइडेन और शी जिनपिंग भी शामिल हैं। मैग्जीन ने लिखा है कि जब तालिबान ने अगस्त के महीने में अफगानिस्तान पर कब्जा किया था तब ऐसा कहा गया था कि बरादर ने ही अन्य देशों से बातचीत की थी। मैग्जीन ने लिखा कि बरादर ही कई अहम फैसले ले रहा था। बरादर ने चीन और पाकिस्तान का दौरा भी किया था और अफगानिस्तान पर पूर्ण कब्जे की रणनीति में अहम भूमिका अदा की। 

बरादर के बारे में इस मैग्जीन में लिखा गया है कि वो अब अफगानिस्तान के भविष्य के लिए खड़े हैं। शांत स्वभाव के बरादर तालिबान के नए चेहरे हैं। मैग्जीने में कहा गया है कि मुल्ला बरादर तालिबान के एक मात्र ऐसे नेता हैं जिन्हें वेस्टर्न सपोर्ट और विश्वास हासिल है। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद मुल्ला बरादर तालिबान के सुप्रीमो के रूप में उभरे। मुल्ला बरादर को अफगानिस्तान का डिप्लोमैटिक चेहरा माना जा रहा है।

हालांकि, तालिबान ने पहले ही ऐलान किया है कि कैबिनेट को अखुंदजादा ही लीड करेंगे और मुल्ला बरादर डिप्टी लीडर के तौर पर होंगे। हालांकि, अभी मुल्ला बरादर अचानक लापता हो गये हैं। कहा जा रहा है कि बरादर और हक्कानी समर्थकों के बीच हुई गोलीबारी में वो घायल हो गये हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here