Doctor’s Stike in Delhi: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के दो बड़े अस्पतालों ने हड़ताल पर चले गए है. दरअसल उत्तर दिल्ली नगर निगम के तहत आने वाले कस्तूरबा गांधी अस्पताल और बाड़ा हिंदूराव के रेजिडेंट डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं. स्ट्राइक करने वाले डॉक्टरों का आरोप है कि उन्हें तीन महीने से न तो सैलरी मिली है और न ही डीए. हड़ताल कर रहे डॉक्टरों ने चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगे पूरी नहीं की गई तो वे 26 नवंबर से पूर्ण हड़ताल पर चले जाएंगे और इस दौरान आपातकालीन सेवा भी रोक दी जाएगी.

इसे लेकर उत्तरी दिल्ली नगर निगम का कहना है कि दिल्ली सरकार ने पैसा नहीं दिया तो कैसे डॉक्टरों का वेतन दें. वहीं दिल्ली सरकार का कहना है कि हमने पैसे दिए हैं. इस रस्साकशी के बीच मरीजों को भुगतना पड़ रहा है. 

सितंबर से नहीं मिली है डॉक्टरों को सैलरी

बता दें कि हड़ताल कर रहे डॉक्टरों के मुताबिक जुलाई में डीए बढ़ गया था लेकिन उन्हें अब तक नहीं मिला है. वहीं सितंबर से सैलरी भी नहीं मिली है. ऐसे में घर चलाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. डॉक्टरों का कहना है कि बिना वेतन के कब तक काम करते रहेंगे. घर का राशन और किराया कहां से देंगे.

मरीजों को हो रही परेशानी
डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से मरीजों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है. इलाज के लिए अस्पतालों में आने वाले मरीजों को घंटों ओपीडी में इंतजार करना पड़ रहा है. वहीं समाधान को लेकर कहीं कोई चर्चा नहीं हो रही है. ऐसे में अब डॉक्टरों ने ये भी चेतावनी दे दी है कि अगर उनकी बकाया सैलरी नहीं मिलती है तो वे इमरजेंसी सेवा भी बंद कर देंगे और अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे. ये सुनकर इन अस्पतालों में आने वाले मरीज काफी परेशान हैं.

ये भी पढ़ें

UPPSC Recruitment 2021: उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन ने निकाली बंपर भर्तियां, जानें आवेदन प्रक्रिया से लेकर योग्यता तक सब कुछ

Chhattisgarh News: अम्बिकापुर में शराब की दुकान पर आबकारी विभाग की रेड, काफी मात्रा में मिलावटी शराब बरामद



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here