Rajasthan Cabinet Reshuffle: राजस्थान मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने से नाराज़ विधायक दयाराम परमार ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने अपनी चिट्ठी में सीएम गहलोत से सवाल किया है कि ऐसी कौन सी काबिलियत हासिल करें, ताकि मंत्रिमंडल में जगह मिल सके. इससे पहले मंत्रिमंडल में फेरबदल से नाराज़ कांग्रेस के दो विधायकों जौहरी लाल मीणा और साफिया जुबैर ने शपथग्रहण समारोह का बहिष्कार किया था. साफिया का कहना था कि पार्टि में महिलाओं का उचित प्रतिनिधित्व नही मिल रहा. वहीं जौहरी लाल मीणा ने केबिनेट में टीकाराम जूली को प्रमोट किए जाने का विरोध किया. 

खेरवाड़ा से विधायक दयाराम परमार ने अपनी चिट्ठी में लिखा है, “मंत्रिमंडल के गठन के बाद ऐसा लगता है कि मंत्री बनने के लिए कोई विशेष योग्यता की आवश्यकता होती है. हमें बताने की कृपा करें कि विशेष काबिलियत क्या है? उसको हासिल कर के भविष्य में मंत्री बनने की कोशिश की जा सके.”

आपको बता दें कि दयाराम परमार दो बार मंत्री रह चुके हैं और छठी बार विधायक बने हैं. उन्होंने बातचीत में कहा कि आदिवासी ज़िले अन्य भी हैं, लेकिन सिर्फ़ बांसवाड़ा से ही दो मंत्री बनाए गए हैं.

6 विधायक बनाए गए सीएम के सलाहकार

राजस्थान सरकार ने छह विधायकों को मुख्यमंत्री का सलाहकार नियुक्त किया है. मुख्यमंत्री के सलाहकार बनाए गए विधायकों में दो विधायक बाबू लाल नागर और संयम लोढ़ा निर्दलीय हैं, जबकि डॉक्टर जितेंद्र सिंह, राजकुमार शर्मा, दानिश अबरार और रामकेश मीणा कांग्रेस के ही विधायक हैं. 

Rajasthan Cabinet Reshuffle: कैबिनेट में बदलाव से सचिन पायलट खुश, कहा- ‘इसका गुट-उसका गुट नहीं, कांग्रेस एक’

Farm Laws Withdrawn: बैठक के बाद किसान संगठनों का एलान- MSP की गारंटी मिलने तक जारी रहेगा आंदोलन



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here