kejriwal
Delhi Govt. in Trouble

विनय गोयल
आम आदमी पार्टी के लिये परेशानियों का दौर अभी थमा नहीं है। लगता है कि आम चुनाव के परिणाम आने तक यह सिलसिला जारी ही रहेगा। पिछले हफ्ते रोहिणी विधायक पर एक महिला ने रेप का आरोप लगा कर सनसनी फैलाने की कोशिश की थी। पार्टी अभी उस सदमे उभरी भी नहीं थी कि उनके एक और विधायक के आवास पर करोड़ों की नकद धनराशि बरामद होने से ईडी एमएलएसो धर दबोचा और कड़ी पूछताछ जारी है। वैसेआम आदमी पार्टी के साथ ऐसा तब स ेचल रहा है।जब से उनकी सरकार बनी है। उनके नेता, विधायक औमंत्री इसक सब ेिअभ्यास्त हो चुके हैं। शायद ही कोई विधायक बचा हो जिस पर किसी न किसी आरोेप में पुलिस ने मामला दर्ज न किया हौ।
ताजा मामला द्वारका के विधायक नरेश बाल्यान का है। इनके आवास से पुलिस ने सूचना पा कर लगभग ढाई करोड़ की नकद धनराशि बरामद की है। इसका विधायक कोई ठीक ठाक जवाब पुलिस को नहीं दे सके है। अब ईडी उस संबंध पूछताछ करने में जुटी है। दूसरा मामला रोहिणी के विधायक मोहिंदर गोयल का है जिन पर एक विधवा महिला ने रेप करने का आरोप लगाया है। बताया जा रहा है कि विधायक के परिचितों में एक प्राॅपर्टी डीलर भी है। उसके आॅफिस में विधायक पुलिस की रेड पहले वहां मौजूद थे। उस दिन वहां एक बड़ी डील प्राॅपर्टी की हुई थी। पुलिस को शक है कि वह प्राॅपर्टी विधायक की बेनामी संपत्ति रही थी। बरामद रुपया उसी डील का होगा।
महिला का आरोप है कि विधायक ने अपने आवास पर उसका रेप किया और उसके अश्लील फोटो और वीडियो बना कर आज भी ब्लैकमेल कर रहा है। यह मामला दो साल पहले का बताया जा रहा है। बकौल पीड़िता उसके पति की मौत दस साल पहले हुई थी। वह विधवा पेशन के लिये अपने पूर्व परिचित विधायक के आवास पर गयी थी। महिला ने विधायक के साथ उसके भाई पर भी मामला दर्ज कराया है। पुलिस रेप का मामला दर्ज करते हुए जांच का आश्वासन दिया है। फिलहाल इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।
इन मामलों को लेकर लोग बाग तरह तरह की बातें कर रहे हैं। लोगों की मानें तो पुलिस की सारी कार्रवाइयां केवल एक ही पार्टी के नेता, विधायक और मंत्री के ही खिलाफ क्यों होती है। दूसरी बात यह है कि यह सब उस समय किया जा रहा है जब आम चुनाव सिर पर हैं। दिल्ली में मुकाबला त्रिकोणीय होता दिख रहा है। राजधानी में आम आदमी पार्टी की प्रचंड बहुमत की सरकार है। यहां भाजपा की दाल पिछले पांच साल से नहीं गल पा रही है। यह बात मोदी सरकार और भाजपा को चैन से बैठने नहीं दे रही है। कांग्रेस की हालत तो दिल्ली में बहुत ही नाजुक है। उसका न तो कोई सांसद है और न ही कोई विधायक। ऐसे में आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता दोनों ही पार्टियों से देखी नहीं जा रही है। यही वजह है कि दिल्ली सरकार को किसी न किसी मामले में उलझाकर आम चुनाव में सफल न हो पायें इस लिये ऐसे मामले उठाये जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here