त्योहारी सीजन को देखते हुए भारत सरकार ने कई ऐसे फैसले लिए हैं, जिससे देश में खाने के तेलों की कीमत सस्ती हो गई है। भारत के नक्शेकदम पर चलते हुए पाकिस्तान भी अपने यहां खाने का तेल सस्ता कर रहा है। भारत ने हाल में खाने का तेल सस्ता करने के लिए इंपोर्ट ड्यूटी में कटौती की है। अब पाकिस्तान ने खाने के तेल पर जीएसटी आधा कर दिया है। वहीं, इंपोर्ट ड्यूटी में भी कटौती की है।

50 रुपये तक कम होगी कीमत: पाकिस्तान सरकार का दावा है कि इस फैसले से खाने के तेल की कीमत 50 रुपए सस्ती हो जाएगी। डॉन की खबर के मुताबिक पाकिस्तान के योजना मंत्री असद उमर ने कहा, “हमने जीएसटी को 17 से 8.5 प्रतिशत तक घटा कर खाद्य तेल की कीमत 45-50 रुपये प्रति किलोग्राम कम करने का फैसला किया है। इसके अलावा अतिरिक्त इंपोर्ट ड्यूटी को भी समाप्त कर दिया गया है। ”

मंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में खाना पकाने के तेल की कीमत 48 प्रतिशत और पाकिस्तान में 38 प्रतिशत बढ़ी। वहीं, चीनी की कीमत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 53 प्रतिशत और पाकिस्तान में 15 प्रतिशत बढ़ी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में यूरिया उर्वरक की कीमत 67 प्रतिशत और पाकिस्तान में 28 प्रतिशत बढ़ी।

पेट्रोलियम उत्पाद की कीमत: मंत्री असद उमर ने दावा किया कि दूसरे देशों की तुलना में पाकिस्तान में पेट्रोलियम उत्पादों और अन्य वस्तुओं की कीमतें अभी भी कम हैं। उमर ने कहा कि विश्व बैंक के अनुसार, सितंबर 2020 से एक वर्ष में कच्चे तेल की कीमतों में 81 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

पाकिस्तान में कमरतोड़ महंगाई, एक झटके में 12 रुपए बढ़ गए तेल के दाम

वहीं, पाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत में केवल 17 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इसी तरह, तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) की कीमत में 135 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि उस अवधि के दौरान पाकिस्तान में केवल 64 प्रतिशत की वृद्धि हुई।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here