Boeing 737 Max planes: दुनिया भर में बैन झेलने के ढाई साल बाद भारत में फिर बोईंग 737 मैक्स विमान परवान लेगा. मंगलवार को सिविल एविएशन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया स्पाइसजेट के इस मैक्स विमान से यात्रा करेंगे. मार्च 2017 से मार्च 2019 के बीच में इंडोनेशियन लॉएन एयर और इथियोपियन एयरलाइंस की दुर्घटना में कुल 345 यात्रियों की मौत हो गई थी. इसी के बाद इसे दुनिया भर में बैन कर दिया गया था. हालांकि, अब इसे भारत में उड़ने की अनुमति मिल गई है. स्पाइसजेट के मैक्स 737 सीरीज के 13 विमान यात्री सेवा में लगाए जाएंगे. 

स्पाइसजेट के प्रोमोटर अजय सिंह ने बताई ये खास बातें 

स्पाइसजेट के प्रोमोटर अजय सिंह ने एबीपी न्यूज़ से एक खास बातचीत में कहा कि ढाई साल पहले इस विमान पर दुनिया भर में बैन लगा था. उसके बाद इसकी स्क्रूटनी हुई, जिसके बाद अब इसकी कमियों का रेक्टिफिकेशन हो चुका है. डेढ़ साल से कई देशों में इसकी सेवाएं फिर शुरू हो चुकी हैं. दोबारा शुरू होने के बाद इस मैक्स विमान करीब 6 लाख घंटे की उड़ान पूरी कर चुका है और 2.5 लाख से ज्यादा कमर्शियल फ्लाइट इसने पूरी की है. ये आज के समय का बहुत आधुनिक विमान है. ये विमान सामान्य विमानों से 20 प्रतिशत कम ईंधन खाता है. 

अमेरिका सहित कई देशों में फिर से उड़ रहा मैक्स 737

पिछले एक वर्ष से ये जहाज दुनिया के कई देशों में उड़ रहा है. अमेरिका, यूरोप गल्फ देशों, आस्ट्रेलिया, साउथ ईस्ट एशिया में बोईंग 737 मैक्स अपनी सेवाएं पहले की तरह दे रहा है. ये न्यू जनरेशन जहाजों का बहुत आधुनिक जहाज है, इसीलिए दुनिया भर में लोकप्रिय है. 

क्यों हो जा रहे थे बोईंग 737 मैक्स विमानों के एक्सीडेंट्स 

स्पाइसजेट के प्रोमोटर अजय सिंह ने बताया कि इन मैक्स विमानों के एक सॉफ्टवेयर में ग्लिच था, जिसके कारण बैलेंस स्थिति में उड़ता हुआ विमान जब हल्का सा नीचे जाता है, तो उसे फिर से ऊपर ले जाने वाले फंक्शन ने काम करना बंद कर दिया था. ये फंक्शन एक सॉफ्टवेयर से चलता है. एक के बाद एक दुर्घटनाग्रस्त हो रहे मैक्स विमानों का ये सॉफ्टवेयर ही खराब हो जा रहा था. दुनिया भर में बेचे गए इन मैक्स 737 विमानों के इस सॉफ्टवेयर को बदल दिया गया है. खासतौर पर स्पाइसजेट के सभी 13 विमानों का सॉफ्टवेयर बदला जा चुका है. लिहाजा अब ये पूरी तरह सुरक्षित हैं. 

अगले 3 सालों में स्पाइसजेट के बेड़े में शामिल होंगे 150 नए 737 मैक्स विमान 

बैन लगने से पहले स्पाइसजेट के पास लीज पर 13 विमान थे. जिसे सिर्फ 6 महीने ही उड़ाया गया था कि तभी बैन लग गया. हालांकि, भारत के किसी भी मैक्स विमान की कोई दुर्घटना नहीं हुई थी. एतिहातन इन विमानों पर बैन लगाना जरूरी था. स्पाइसजेट ने 155 अन्य विमान ऑर्डर किए थे. इसके अलावा 50 अन्य विमान भी ऑप्शन में रखे गए थे, लेकिन मौजूदा डील के अनुसार, 142 विमान स्पाइसजेट के पास अभी आने हैं. इसके अलावा जरुरत महसूस करने पर 50 अन्य विमान भी स्पाईस जेट ले सकता है. दिसंबर में बोईंग कंपनी इन विमानों की डिलेवरी शुरू कर देगी. अगले तीन सालों में ये जहाज स्पाइसजेट के बेड़े में शामिल हो जाएंगे.      

बोईंग कंपनी ने अपनी गलती स्वीकारते हुए स्पाइसजेट को हर्जाना भी दिया     

ढाई साल से स्पाइसजेट के 13 विमान खड़े रहे जिसकी जिम्मेदारी बोईंग कंपनी ने लेते हुए हर्जाने की भरपाई भी की है. इस कंपनसेशन का एग्रीमेंट हो चुका है. कुछ कैश पैसा बोईंग ने दिया है. बाकी पैसे काइंड में यानी नए जहाजों के रूप में किया जाएगा.       

हवाई किराए की एकनॉमिक्स : एटीएफ को जीएसटी में लाना जरूरी 

स्पाइसजेट के प्रोमोटर अजय सिंह ने कहा कि दुनिया में हवाई किराए सबसे कम भारत में हैं, जबकि कॉस्ट सबसे ज्यादा भारत में है. दिल्ली और महाराष्ट्र के एटीएफ पर टैक्स 30% है. इसी तरह पश्चिम बंगाल, गुजरात और कर्नाटक जैसे कई बड़े राज्यों में एटीएफ पर टैक्स बहुत ज्यादा है. स्पाइसजेट के प्रोमोटर अजय सिंह ने कहा कि एटीएफ को जीएसटी के दायरे में लाना बहुत आवश्यक है. ऐसा होने पर यात्री किराए भी कम हो जाएंगे. एयरलाइंस को एक रिजनेबल प्रॉफिट कमाने का मौका मिलना चाहिए, ताकि हम और अधिक हवाई सेवा दे सकें. एक ओर हमें अपनी कॉस्ट कम करनी होगी, दूसरी तरह सरकार को टैक्स घटाना होगा, तभी किराए कम हो सकते हैं. 

ज्योतिरादित्य सिंधिया करेंगे 737 मैक्स विमान से यात्रा 

इस विमान से पहली ऑफिशियल उड़ान कल दिल्ली से मुंबई की शुरू हुई है. इसके अलावा कई स्पेशल फ्लाइट भी देश के अंदर उड़ाई जा चुकी है. इसी महीने की 7 तारीख को इस जहाज की एक स्पेशल फ्लाइट से स्पाइसजेट अपने कर्मचारियों को वाराणसी भी लेकर गया था. कल यानी मंगलवार को सिविल एविएशन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी स्पाइसजेट के 737 मैक्स विमान से दिल्ली से ग्वालियर की यात्रा करेंगे. 

31 दिसंबर से स्पाइसजेट के विमानों में हवाई यात्रा के दौरान भी मिलेगा इंटरनेट

स्पाइसजेट इन मैक्स विमानों में 31 दिसंबर से ब्रॉड बैंड भी शुरू कर देगा, जिससे यात्री एक डेस्टिनेशन से दूसरे डेस्टिनेशन के बीच सीमलेस तरीके से इंटरनेट से जुड़े रह सकेंगे.  

Tripura Govt vs TMC: तृणमूल सांसदों का गृह मंत्रालय के बाहर विरोध प्रदर्शन, कहा- त्रिपुरा में चल रहा गुंडाराज

Mamata Banerjee Delhi Visit: 24 नवंबर को पीएम मोदी से मिलेंगी ममता बनर्जी, त्रिपुरा हिंसा समेत कई मामलों पर करेंगी बातचीत



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here