Updated : 15 May 2020 12:12 AM (IST)

हजारीबाग से अपने बच्चे को कंधे पर बैठाकर पैदल 500 किमी. दूर बनारस जाता आत्मनिर्भर मजदूर. ये मजदूर आत्मनिर्भर तो हुए लेकिन सरकार की अधूरी नीतियों के कारण! घंटी बजाओ में देखिए आत्मा को कचोट देने वाले मजदूरों की ये आत्मनिर्भरता.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here