चालू वित्त वर्ष के पहले चार माह में शेयर बाजार के निवेशकों की पूंजी 31 लाख करोड़ रुपये से अधिक बढ़ी है। बाजार में सकारात्मक रुख के बीच पहले चार माह में निवेशकों की पूंजी में कुल मिलाकर 31,18,934.36 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई है। चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-जुलाई के दौरान बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 3,077.69 अंक या 6.21 प्रतिशत चढ़ा है। 
    
सेंसेक्स ने 16 जुलाई, 2021 को अपने सर्वकालिक उच्चस्तर 53,290.81 अंक के स्तर को छुआ था। 15 जुलाई को यह अपने सर्वकालिक उच्चस्तर 53,158.85 अंक पर बंद हुआ था। निवेशकों की सकारात्मक धारणा की वजह से बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 31,18,394.36 करोड़ रुपये बढ़ा है। 30 जुलाई को बाजार पूंजीकरण 2,35,49,748.90 करोड़ रुपये के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंचा। 

LPG सिलेंडर महंगा हुआ या सस्ता, जानें 1 अगस्त का लेटेस्ट रेट
     
इक्विटी99 के सह-संस्थापक राहुल शर्मा ने कहा, ”निवेशकों की सकारात्मक धारणा के पीछे धन का प्रवाह और तरलता प्रमुख वजह है। उन्होंने कहा कि बाजार ने 2020 में बिकवाली के सिलसिले के बाद जबर्दस्त प्रदर्शन किया है। बेंचमार्क सेंसेक्स मार्च, 2020 के अपने निचले स्तर से इस समय दोगुना से अधिक हो गया है। 
     
पूरे वित्त वर्ष 2020-21 में बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 90,82,057.95 करोड़ रुपये बढ़कर 2,04,30,814.54 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कोविड-19 की वजह से पैदा हुई अड़चनों के बावजूद सेंसेक्स बीते वित्त वर्ष में 20,040.66 अंक या 68 प्रतिशत चढ़ा। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयुमार ने कहा, ”सबसे पहले यह समझने की जरूरत है कि इस समय वैश्विक स्तर पर तेजड़िया बाजार है। मिस्र और ईरान जैसे कुछ बाजारों को छोड़ दिया जाए, तो दुनिया के तमाम बाजारों में तेजी है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व सहित दुनिया के सभी केंद्रीय बैंकों ने बाजार में जबर्दस्त तरलता डाली है। यह बाजारों में तेजी की एक प्रमुख वजह है। 

7th Pay commission: क्या DA और DR के बाद केन्द्रीय कर्मचारियों का बढ़ाया जाएगा Basic Pay, सरकार ने संसद में कही यह बात 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here