#RelianceCapital#ModiGOvt.#ShareMarket#PublicHareHolding#AnilAmbaniGroup#FinanceMinistry#RBI@NCLT#RafailAirCraft#
कॉर्पोरेट संसार में, कर्ज के आधार पर, बने हुए अमीर कब मुफलिसी में आ जाय, यह कहा नहीं जा सकता है। शेयर ट्रेडिंग करने वालों के लिए यह एक बुरी खबर है कि, अनिल अंबानी की रिलायंस कैपिटल के शेयरों की वैल्यू जीरो हो गई है अतः इस कंपनी के शेयरों में कारोबार भी रोक दिया गया है। कंपनी में पब्लिक शेयर होल्डिंग 94 फीसदी से ज्यादा है, यानी 94 फीसदी से अधिक शेयर रिटेल निवेशकों के पास हैं। तो जाहिर है कि सर्वाधिक घाटा भी उन्हीं को हुआ होगा।

रिलायंस कैपिटल को दिवालिया घोषित कराने के लिए RBI रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने NCLT नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल, का रुख किया था। फाइनेंशियल सर्विसेज देने वाली यह कंपनी, लाइफ इंश्योरेंस, जनरल और हेल्थ इंश्योरेंस में सेवाएं देने के अलावा रिलायंस कैपिटल कमर्शियल, होम फाइनेंस, इक्विटी और कमोडिटी ब्रोकिंग जैसे सेगमेंट में भी सेवाएं देती रही है।

रिलांयस कैपिटल की मौजूदा हालत इसके कर्ज में फंसने के कारण हुई है। कर्जदाताओं की एक समिति कंपनी के रेजॉल्‍यूशन प्रोसेस की समीक्षा भी कर चुकी है। कंपनी के लिए बि़ड प्रोसेस 29 अगस्त को पूरी हो गयी। इसे खरीदने में इंडसइंड बैंक, ओकट्री कैपिटल US और टॉरेंट ग्रुप ने दिलचस्पी दिखाई है।

अनिल अंबानी ग्रुप की एक और कंपनी रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग के शेयरों में लेन-देन को रोका गया है। रिलायंस नेवल के लिए भी दिवालिया प्रक्रिया चल रही है। एक्‍सचेंजों ने कंपनी के शेयरों को एडिशनल सर्विलांस मेजर में रखा है। एएसएम का अर्थ सप्ताह में केवल एक। ट्रेडिंग की अनुमति होगी।

उल्लेखनीय है कि, प्रधानमंत्री पर, इन्ही अनिल अंबानी के लिए, हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स HAL को मिल रहा राफेल का ठेका रद्द करा कर, दिलाने का आरोप है। इसी राफेल मामले के पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई ने जांच का आदेश देने से, सरकार द्वारा एक बंद लिफाफा अदालत में दिए जाने पर संतुष्ट होकर, इनकार कर दिया था और इसी राफेल मामले में, सीबीआई के तत्कालीन डायरेक्टर आलोक वर्मा को रातोंरात पद से हटा कर उनके दफ्तर की तलाशी ली गई थी। अब रंजन गोगोई राज्यसभा के सदस्य है।

(विजय शंकर सिंह)
#अर्थचर्चा #vss
यह लेख स्वतंत्र पत्रकार का है ये उनके अपने विचार हैं इससे वेबसाइट का सहमत व जिम्मेदार होना जरूरी नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here