Narendra Giri Case: केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष आचार्य नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में उनके शिष्य आनंद गिरि और दो अन्य के खिलाफ शनिवार को चार्जशीट दाखिल कर दी है.  अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

न्यायिक हिरासत में हैं आरोपी
अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद की एक अदालत में दाखिल आरोप पत्र में सीबीआई ने आनंद गिरि, इलाहाबाद के बड़े हनुमान मंदिर के पुजारी आध्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी के खिलाफ आपराधिक षड्यंत्र रचने और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है. उन्होंने बताया कि तीनों आरोपी वर्तमान में न्यायिक हिरासत में हैं.

सीबीआई को सौपा गया था मामला
आचार्य नरेंद्र गिरि, को उनके शिष्यों ने 20 सितंबर को इलाहाबाद के बाघंबरी मठ में फांसी पर लटका पाया था. पुलिस ने कहा था कि एक कथित ‘सुसाइड नोट’ मिला, जिसमें महंत ने लिखा था कि वह मानसिक रूप से परेशान थे और अपने एक शिष्य से नाराज थे. केंद्र ने उत्तर प्रदेश सरकार की सिफारिश पर घटना के कुछ दिनों के भीतर ही मामला सीबीआई को सौंप दिया था.

एसआईटी का गठन हुआ था
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी. उत्तर प्रदेश पुलिस ने पूर्व में 18 सदस्यीय एसआईटी का गठन किया था, जिसने आनंद गिरि को उत्तराखंड के हरिद्वार से गिरफ्तार किया था.

ये भी पढ़ें:

UP News: शामली में दो दोस्तों ने मिलकर की थी युवक की हत्या, पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया खुलासा

Agra News: वेश बदलकर गाड़ी लूटने आए चोरों के प्लान को पुलिस ने ऐसे किया फेल, दो लोग गिरफ्तार



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here