#DelhiGovt.#CentralGovt#ModiGovt#PowerEnergyMinistery#Min.RKsingh#DyCMDelhi#Min.SatenderJain#CoalSupply#
इधर कुछ से दिनो केजरीवाल सरकार और मोदी सरकार के बीच फिर एक बार तनातनी चल रही है। इसी साल दिल्ली मे आक्सीजन की कमी को लेकर केन्द्र और दिल्ली सरकार के बीच वाक युद्ध छिड़ गया था। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा गया था। एस सी के दखल से मामला सुल्टा था। अब बिजली की आपूर्ति को लेकर केजरीवाल सरकार ने कोयले को लेकर पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी है। मनीष सिसोदिया ने यह जानकारी दी कि दिल्ली में कोयले की किल्लत होने वाली है जिसकी वजह से राजधानी दिल्ली में ब्लैक आउट हो सकता है। कोयले की आपूर्ति में काफी कमी हो गयी है। सिर्फ एक दिन के लिलये ही कोयला है। अगर केन्द्र ने कोयले की आपूर्ति नहीं की तो दिल्ली वासियों को विद्वुत आपूर्ति बाधित हो जायेगी। बिजली उत्पान में कोयला की अहम् भूमिका निभाता है। केन्द्र से समुचित आपूर्ति नहीं हो रही है। यह बात सिर्फ दिल्ली पर नहीं लागू होती है बल्कि पंजाब, महाराष्ट्र और अन्य प्रदेशों में कोचला आपूर्ति में किल्लत आ रही है। लेकिन केन्द्र ने दिल्ली सरकार की बातों को सिरे से नकार दिया है।
ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने कहा कि कोयला आपूर्ति में कोई कमी नहीं की गयी है। किसी भी प्रदेश में कोयले की वजह से बिजली उत्पादन में कमी पहीं आयेगी। केजरीवाल सरकार बेवजह ही दिल्ली में ब्लैक आउट होने की अफवाह उड़ा रही है। इससे पहले भी आक्सीजन आपूर्ति को लेकर केजरीवाल और सरकार ने सियासी नाटक किया था। लेकिन दिल्ली सरकार ने कोयले की वजह से कुछ पावर प्लांट बंद कर लिये है। ऐसा ही कुछ पंजाब और महाराष्ट्र में भी किया जा रहा है। लेकिन केन्द्र सरकार कोयले की कम आपूर्ति को सियासी नाटक बता रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here