बल्लेबाजी के दौरान खराब शॉट सिलेक्शन और विकेट के पीछे लचर प्रदर्शन के कारण अक्सर आलोचनाओं का सामने करने वाले टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा करियर बदलने वाला साबित हुआ है। इस दौरे पर टीम को मिली ऐतिहासिक जीत में पंत का भी योगदार बराबर का रहा है। उन्होंने सिडनी में न केवल तेज बल्लेबाजी कर टीम की हार को टाला, बल्कि एक समय ऐसा भी आ गया था जब भारत को जीत दिखाई देने लग गई थी, लेकिन उनके आउट होते ही भारत को ड्रॉ के लिए खेलना पड़ा। इस मैच में कप्तान अजिंक्य रहाणे ने उन्हें हनुमा विहारी से ऊपर भेजकर सबको चौंका दिया था। रहाणे के इस फैसले पर बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने बयान दिया है।

इंग्लैंड क्रिकेट टीम इस साल भारत समेत इन देशों की करेगा मेजबानी, जारी किया फुल शेड्यूल

‘स्पोर्ट्सकीड़ा’ की रिपोर्ट के मुताबिक, बैटिंग कोच विक्रम राठौड़ ने ऑफ स्पिनर आर अश्विन से बात करते हुए कहा कि एडिलेड टेस्ट के बाद वापस भारत लौटने से पहले विराट कोहली ने सुझाव दिया था कि सिडनी में परिस्थितियों की मांग हो तो विकेटकीपर ऋषभ पन्त को बल्लेबाजी करने के लिए ऊपर भेजा जा सकता है। राठौड़ ने कहा कि एडिलेड टेस्ट हारने के बाद विराट ने कहा था कि लेफ्ट राइट कॉम्बिनेशन बरकरार रखने के लिए पन्त को ऊपर भेजा जा सकता है।

विक्रम राठौड़ ने बताया कि इस मुद्दे पर जब टीम के हेड कोच रवि शास्त्री से बात की गई, तो उन्होंने भी कहा कि ऑस्ट्रेलिया की टीम लम्बे समय से लेफ्ट हैंड बल्लेबाजों के खिलाफ अच्छी गेंदबाजी नहीं कर रही थी। इसके बाद पन्त को ऊपर भेजने के लिए सहमति बन गई। सिडनी टेस्ट में पंत हालांकि दुर्भाग्यशाली रहे और मात्र तीन रन से शतक पूरा नहीं कर पाए। उन्हें काफी पिटाई खाने के बाद ऑफ स्पिनर नाथन लायन ने अपनी गेंद पर शिकार बनाया। पंत के आउट होने के बाद हनुमा विहारी और आर अश्विन ने चोटिल होने के बावजूद ऐतिहासिक साझेदारी करते हुए मैच को ड्रॉ करवाया।

गजब: एक ही गेंद पर दो बार रन आउट हुआ बल्लेबाज, देखें अनोखा वीडियो 

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here