IPO News: सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि IPO में पैसा लगाया कब जाए और कितने दिनों के लिए. वैसे कई निवेशक ऐसे होते हैं जो आईपीओ की लिस्टिंग होते ही निकल जाते हैं. ऐसे लोग भविष्य में मिलने वाले किसी भी फायदे से वंचित हो जाते हैं. तमाम इंवेस्टर धैर्य नहीं रख पाते अगर कंपनी किसी निश्चित समय में लाभ न दे पाए.

आजकर IPO का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है. कह सकते हैं कि जिस कंपनी को देखिए, वही अब आईपीओ ला रही है. इनमें अधिकांश आईपीओ ऐसे हैं जो ‘ओवरसब्सक्राइब्ड’ हैं. यानी 100 लोगों को अगर शेयर अलॉट होना है तो 500 लोगों ने अप्लाई कर दिया. ऐसे में ज्यादातर लोग बिना शेयर के रह जाते हैं. बाद में पैसा भले वापस हो जाए, लेकिन कुछ दिनों तक पूंजी फंसी रहती है.

इस उपाय से होगी कमाई

अब ऐसे लोगों के लिए भी एक नया विकल्प सामने आया है. इसका नाम है एडलवाइज आईपीओ फंड. रिपोर्ट्स के मुताबिक साल 2018 के बाद आईपीओ में 50 फीसदी का उछाल देखा गया है. जिन आईपीओ में 15-50 फीसदी का उछाल देखा गया है, उन्हें औसतन 13 गुना ज्यादा सब्सक्रिप्शन मिला है.

यहां करता है फंड निवेश

एडलवाइज आईपीओ फंड अपनी तरह का पहला थिमेटिक फंड है जिसे 2018 में शुरू किया गया था. फंड के जरिये IPO निकालने वाली कंपनियों में निवेश किया जाता है. यह फंड हाल में जारी हुए आईपीओ या आने वाले आईपीओ में निवेश करता है. हाल में फंड की तरफ से अंबर इंटरप्राइजेज, सोना बीएलडब्ल्यू प्रीसिजन फोर्जिंग्स, ग्लैंड फार्मा, जोमैटो और एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस जैसी कंपनियों में निवेश किया गया है.

एडलवाइज एएमसी का कहना है कि आईपीओ में किस वक्त पैसा लगाया जा रहा है, यह बहुत महत्वपूर्ण है. कई निवेशक ऐसे होते हैं जो आईपीओ की लिस्टिंग होते ही निकल जाते हैं. ऐसे लोग भविष्य में मिलने वाले किसी भी फायदे से वंचित हो जाते हैं. लिस्टिंग होने के बाद नई कंपनी की कमाई की गुंजाइश बढ़ती है क्योंकि वो आगे कई साल तक गति बनाए रखती है और धीरे-धीरे उसके मुनाफे में वृद्धि की संभावना ज्यादा होती है.

IPO और MF से कमाई में अंतर

लिस्टिंग के बाद किसी कंपनी से फायदा लेना है तो ज्यादा दिनों तक शेयर को रोककर रखना होगा. पेशेवर ढंग से अगर किसी फंड का प्रबंधन बेहतर ढंग से किया जाए तो मुनाफा कई गुना तक बढ़ जाता है. ऐसे में आईपीओ में शेयर नहीं मिले तो म्यूचुअल फंड के जरिये बेहतर कमाई की जा सकती है. आईपीओ की तरह म्यूचुअल फंड में निवेश को लेकर कोई मारामारी नहीं है. रिटर्न का प्रतिशत देखें तो वह शेयर से कम लाभदायक नहीं है.

ये भी पढ़ें

Paytm Share Price: बंपर गिरावट के बाद आखिर चढ़ने लगा शेयर, जानिए क्या है आज हाल और कितनी हुई कमाई

IPO News: जानिए क्यों रहने वाला है IPO बाजार गुलजार, सेबी ने आखिर ऐसा कौन सा फैसला सुना दिया?



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here