#westbengalNews#TMCgovt.news, CIDsummon#BJPMPArjunsingh#Economicfraud#

पश्चिम बंगाल पुलिस के सीआईडी विभाग ने बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह को नोटिस भेजा है। इस नोटिस के अनुसार उन्हें 25 मई कोर्ट में पेश होना है। पुलिस ने उन्हें यह नोटिस Bhatpura कोआपरेटिव बैंक में आर्थिक घोटाले को लेकर दिया है। अर्जुन सिंह पूर्व टीमएमसी विधायक थे। उन पर यह आरोप लगा है कि 2018 उन्होंने बैंक के अध्यक्ष रहते हुए काफी घोटालों को अंजाम दिया था। तब से उन पर भ्रष्टाचार का मामला चला रहा है।

मालूम हो कि 2019 में अर्जुन सिंह बीजेपी में शामिल हुए और आम चुनाव में बीजेपी के टिकट पर सांसद बन गये। इससे पहले वो टीएमसी के विधायक थे। Bairakpur विधायक के रूप में चुने गये थे। बाद में टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी से मतभेद होेने की वजह से उन्होंने टीएमसी से इस्तीफा दे कर भाजपा ज्वाइन की थी। इससे पहले भी बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह विवादों से नाता रहा है। पुलिस ने उनके करीबी पार्षद मनीष शुक्ला की हत्या में भी पूछताछ करनी चाही थी। लेकिन सांसद बन जाने के बाद अर्जुन सिंह को केन्द्र का पूरी समर्थन मिल रहा था। इसलिये मामला ठंडे बस्ते में चला गया। लेकिन ममता दीदी की तीसरी बार सरकार बनने के बाद बैंक घोटाले की जांच में तेजी शुरू हो गयी है।

2021 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को पूरा विश्वास था कि इस बार बंगाल में कमल खिला कर रहेंगे। लेकिन चुनाव परिणाम भाजपा के अनुकूल नहीं आये। केन्द्र व प्रदेश भाजपा के नेताओं के दावे और वादों की हवा निकल गयी। ममता दीदी ऐतिहासिक जीत हासिल कर तीसरी बार वेस्ट बंगाल की सीएम बन गयीं।

बैरकपुर से भाजपा के लोकसभा सदस्य अर्जुन सिंह ने शनिवार को आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल अपराध जांच विभाग सीआईडी उन्हें मनीष शुक्ला हत्याकांड में फंसाने की रच रहा है सिंह के करीबी सहयोगी और भाजपा पार्षद शुक्ला की चार अक्टूबर को तीतागढ़ में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here