कृषि कानून वापस लेने के बाद भी सरकार के खिलाफ विपक्ष और किसान हमलावर हैं। किसान पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि एमएसपी की गारंटी के बिना वे नहीं मानने वाले। उधर, एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा है। कहा कि अगर कृषि कानूनों की तरह एनपीआर और एनआरसी कानून रद्द नहीं किया गया तो वे बाराबंकी को दूसरा शाहीन बाग बना देंगे।

यूपी के बाराबंकी में एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। एएनआई के मुताबिक, उन्होंने कहा, “मैं पीएम मोदी और बीजेपी से सीएए को कृषि कानूनों की तरह वापस लेने की अपील करता हूं क्योंकि ये संविधान के खिलाफ है। अगर वे एनपीआर और एनआरसी पर कानून बनाएंगे तो हम सड़कों पर उतरेंगे और यहां एक और शाहीन बाग बनेगा।”

 

बता दें कि बीते शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए तीनों कृषि कानून वापस लेने का ऐलान किया। इस बात को लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर मोड पर है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा था कि जो लोग झूठे जुमले का शिकार हुए हैं, वे प्रधानमंत्री की बातों पर विश्वास करने को तैयार नहीं हैं।

समाजवादी पार्टी ने भी केंद्र की मंशा पर सवाल उठाया। एसपी ने ट्वीट किया, “बिल्कुल साफ है कि उनका दिल साफ नहीं है, और चुनाव के बाद फिर से बिल लाये जायेंगे…”  किसानों से झूठी माफी मांगने वालों का ये सच है। 2022 में किसान बदलाव लाएंगे।” 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here