Paytm Target Price: स्टॉक एक्सचेंज ( Stock Exchanges) पर लिस्टिंग के बाद से दो ट्रेडिंग सेशन में पेटीएम ( Paytm) के शेयर में बड़ी गिरावट देखी गई. लेकिन मंगलवार का दिन पेटीएम के लिये बेहद मंगल साबित हुआ है. पेटीएम के शेयर में गिरावट का सिलसिला आखिरकार थम गया. निवेशकों द्वारा की गई खऱीदारी के चलते पेटीएम के शेयर में आज शानदार रिकवरी देखी गई. बाजार बंद होने पर पेटीएम 10 फीसदी की बढ़त के साथ 1495 रुपये पर बंद हुआ है. 

इश्यू प्राइस से नीचे ट्रेड कर रहा Paytm

लेकिन पेटीएम का शेयर अभी भी अपने इश्यू प्राइस 2150 रुपये से काफी नीचे ट्रेड कर रहा है. जिन निवेशकों ने पेटीएम के आईपीओ में पैसा लगाया है उन्हें अभी भी अच्छा खासा नुकसान हो रहा है. पेटीएम का मार्केट कैपिटलाईजेशन अभी भी 1 लाख करोड़ रुपये से कम 97,000 करोड़ रुपये के करीब है. दरअसल बाजार के कई जानकार पेटीएम के बिजनेस मॉडल से बहुत परिचित नहीं है क्योंकि पेटीएम पहली तरह की पहली फिनटेक ( Fintech) कंपनी है जिसकी बाजार में लिस्टिंग हुई है. 

विजय शेखर शर्मा को है भरोसा

पेटीएम के सीईओ विजय शेखर शर्मा मानते हैं कि पेटीएम के बिजनेस मॉडल को समझने में बाजार और निवेशकों को अभी समय लगेगा. उनके मुताबिक कंपनी इंश्योरेंस ( Insurance) से लेकर वेल्थ क्रिएशन ( Wealth Creation) के बिजनेस में है जो कि शेयर बाजार के लिये एक नया अनुभव है. धीरे-धीरे समय बीतने के साथ निवेशक पेटीएम के बिजनेस मॉडल ( Paytm Business Model) को समझेंगे. 

ब्रोकरेज हाउसेज का रुख है नेगेटिव

दरअसल जिस दिन पेटीएम की बाजार में लिस्टिंग हुई उसके बाद से ही पेटीएम का शेयर औंधे मुंह गिर गया.  बाजार के कई जानकारों ने पेटीएम के मर्चेंट बैंकरों ( Paytm Merchant Bankers) की पेटीएम आईपीओ के इश्यू प्राइस को इतना महंगा रखने के लिये तीखी आलोचना की थी. कई ब्रोकरेज हाउसेज ( Brokerage Houses) ने तो पेटीएम का टारगेट प्राइस घटा दिया. विदेशी ब्रोकरेज हाउस Macquarie ने तो पेटीएम का टारगेट घटाकर 1200 रुपये कर दिया. जो कि इश्यू प्राइस से करीब 44 फीसदी नीचे है. Macquarie के मुताबिक पेटीएम का बिजनेस मॉडल में दिशा का अभाव है. उसके मुताबिक पेटीएम के लिये मुनाफा ( Profit) बनाना बड़ी चुनौती है.  

बाजार एक दिन समझेगा Paytm का वैल्यू

हालांकि विजय शेखर शर्मा ने पेटीएम की लिस्टिंग के दिन कहा था कि पेटीएम जिस कारोबार में है उसमें अपार संभावनायें है. पेटीएम की क्षमताओं को उसके आज या कल के शेयर की कीमत के आधार पर तय नहीं की जा सकता. इस पेमेंट कंपनी के सामने बड़ा अवसर है. और मुझे पता है शेयर बाजार आने वाले समय में हमारे बिजनेस मॉडल को जरुर समझेगा. 

बहरहाल पेटीएम अपने इश्यू प्राइस से अभी भी 30 फीसदी नीचे ट्रेड कर रहा है. अपने इश्यू प्राइस तक पहुंचने के लिये उसे बहुत फासला तय करना होगा. और ये सब निर्भर करेगा पेटीएम को लेकर निवेशकों के रूख पर. 

डिस्क्लेमर: (यहां मुहैया जानकारी सिर्फ़ सूचना हेतु दी जा रही है. यहां बताना ज़रूरी है की मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है. निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें. ABPLive.com की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की यहां कभी भी सलाह नहीं दी जाती है.)

यह भी पढ़ें: 

सस्ता होगा पेट्रेल डीजल! भारत सरकार अपने स्ट्रैटजिक रिजर्व से 5 मिलियन बैरल कच्चा तेल बाजार में उतारेगी

 

Vodafone Idea Prepaid Mobile Tariff Hike: मोबाइल रिचार्ज कराना हुआ महंगा, एयरटेल के बाद वोडाफोन आईडिया ने भी बढ़ाया प्रीपेड टैरिफ



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here