पीएम किसान सम्मान निधि की आठवीं किस्त बहुत जल्द 11 करोड़ से अधिक किसानों के खातों में आने वाली है। गेहूं की कटाई और मड़ाई चरम पर है, ऐसे में किसानों को इस 2000 रुपये की किस्त का बेसब्री से इंतजार है। सरकार अब तक 7 किस्त दे चुकी है और आठवीं किस्त इसी महीने से आनी शुरू होगी, लेकिन इस योजना के सिस्टम में सेंध लगाकर लााखों किसान केंद्रा सरकार से सालाना 6000 रुपये ले रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: पीएम किसान की 8वीं किस्त जानें कहां रुकी हुई है और 11 करोड़ 74 लाख किसानों के खातों में कब आएगी

पिछले दिनों एक आरटीआई में इस बात का खुलासा हुआ था कि फर्जीवाड़ा करने वाले ऐसे अयोग्य किसानों की संख्या पंजाब , असम, महाराष्ट्र, गुजरात और उत्तर प्रदेश में अधिक है। ऐसे किसानों से सरकार वसूली भी कर रही है। अगर आप पीएम किसान की किस्त ले रहे हैं तो पहले ये जान लें कि आप उसके पात्र हैं या नहीं। इससे पहले कि सरकार आपको दी गई रकम वसूले, आप सावधान हो जाएं । 

अयोग्य लाभार्थियों में आधे से अधिक (55.58%) आयकरदाता हैं। बाकी 44.41 फीसद वे किसान हैं, जो योजना की अर्हता पूरी नहीं करते हैं। ऐसे अयोग्य लाभार्थियों को भुगतान की गई राशि वसूलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। गलत तरीके से लिया गया पैसा वापस नहीं करने पर कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है।

कौन हैं किसान सम्मान निधि के अयोग्य लाभार्थी

 बहुत से किसानों को ये नहीं मालूम कि अगर उनके परिवार में कोई टैक्स देता है तो इस योजना का लाभ उसे नहीं मिलेगा। परिवार का आशय पति-पत्नी और अवयस्क बच्चे से है। यानी पति या पत्नी में से कोई पिछले साल इनकम टैक्स भरा है तो उसे इस योजाना का लाभ नहीं मिलेगा। आइए जानें और किन-किन लोगों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा…

  • जो लोग खेती की जमीन का इस्तेमाल कृषि कार्य की जगह दूसरे कामों में कर रहे हैं। बहुत से किसान दूसरों के खेतों पर किसानी का काम तो करते हैं, लेकिन खेत के मालिक नहीं होते। ऐसे किसान इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते।
  • यदि कोई किसान खेती कर रहा है, लेकिन खेत उसके नाम नहीं है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। अगर खेत उसके पिता या दादा के नाम है  तब भी वे इस योजना का फायदा नहीं उठा सकते।
  • अगर कोई खेती की जमीन का मालिक है, लेकिन वह सरकारी कर्मचारी है या रिटायर हो चुका हो, मौजूदा या पूर्व सांसद, विधायक, मंत्री उन्हें पीएम किसान योजना का लाभ नहीं मिलता। प्रोफेशनल रजिस्टर्ड डॉक्टर, इंजिनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट  या इनके परिवार के लोगों को भी  इस योजना का फायदा नहीं मिलता।
  • अगर कोई व्यक्ति खेत का मालिक है, लेकिन उसे 10000 रुपये महीने से अधिक पेंशन मिलती है, वह इस योजना के लाभार्थी नहीं हो सकते। वहीं इनकम टैक्स चुकाने वाले परिवारों को भी इस योजना का फायदा नहीं मिलेगा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here