वेदांता समूह अपने बिजनेस मॉडल में बदलाव करने वाली है। मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस के मुताबिक इस बदलाव से यूके स्थित वेदांत रिसोर्सेज लिमिटेड (वीआरएल) की क्रेडिट गुणवत्ता प्रभावित होने की संभावना नहीं है।

खबर ये भी है कि वेदांता के प्रमोटर – ट्विन स्टार होल्डिंग्स और वेदांता नीदरलैंड्स इन्वेस्टमेंट्स बी.वी. कंपनी के 17 करोड़ इक्विटी शेयर खरीदना चाहते हैं। इन खबरों की वजह से शेयर बाजार में वेदांता लिमिटेड का भाव उछल गया है। मंगलवार को दोपहर 12 बजे के बाद शेयर का भाव 342 रुपए (करीब 4 फीसदी की तेजी) पर था। 

क्या है योजना: दरअसल, Vedanta लिमिटेड तेल, गैस, एल्यूमीनियम, लोहा और इस्पात सहित अपने प्रमुख व्यवसायों को अलग सूचीबद्ध कंपनियों में बदलने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। इसके लिए Vedanta लिमिटेड के निदेशक मंडल ने एक उपसमिति का गठन किया है।

अरबपति अनिल अग्रवाल के मुताबिक यह मॉडल लागू हो जाने पर वेदांता लिमिटेड के एक शेयरधारक को चार गुना शेयर मिल जाएंगे, क्योंकि उसके पास वेदांता के अलावा अन्य तीनों कारोबारों के शेयर भी होंगे। उन्होंने कहा कि इस काम को बहुत जल्द अंजाम देने का इरादा है। आपको बता दें कि वेदांता समूह के मुखिया अनिल अग्रवाल हैं। इस समूह की Vedanta लिमिटेड में करीब 65 फीसदी हिस्सेदारी है।

क्या कहना है मूडीज का : मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने 22 नवंबर को जारी एक नोट में कहा कि भारतीय खनन प्रमुख वेदांत लिमिटेड (वीडीएल) की योजना से इसकी मूल फर्म – यूके स्थित वेदांत रिसोर्सेज लिमिटेड (वीआरएल) की क्रेडिट गुणवत्ता प्रभावित होने की संभावना नहीं है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here