#westbengalnews#CMMamtaBanerjee#WestBengalBJP#MODi#Shah#MukulRoy#

पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम आये अभी सवा महीना ही बीता कि बीजेपी में गये नेताओं में घर वापसी की होड़ गयी है। इसी कड़ी में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल राॅय ने अपने बेटे के साथ टीएमसी का दामन एक बार फिर थाम लिया। मुकुल राॅय की घर वापसी से टीएमसी पर विशेष फर्क नहीं पड़ने वाला पर भाजपा के लिये बड़ा झटका माना जा सकता है। मुकुल राॅय ने भाजपा को बाय बाय कते हुए कोलकाता के टीएमसी भवन में ममता बनर्जी की मौजूदगी में पार्टी ज्वाइन की। पिछले एक सप्ताह से राॅय की घर वापसी की चर्चा चल रही थी। गुरुवार को मुकुल राॅय ने अपने बेटे समेत घर वापसी कर ली। भाजपा के लिये मुकुल राॅय का Aजाना बहुत बड़ा धक्का माना जा

रहा है। मुकुल राॅय ने 2019 के आमचुनाव में बीजेपी के लिये जी जान लगा कर प्रचार किया था, जिसकी वजह वेस्ट बंगाल में बीजेपी 18 उम्मीदवार सांसद बने। श्री राॅय की मेहनत से बीजेपी ने प बंगाल में जड़े मजबूत करने में सफलता प्राप्त की है। लेकिन पिछले कई सालों से राॅय अपने आप को काफी असहज महसूस कर रहे थे।
न सम्मान और राजनीतिक कद
मुकुल राॅय को आम चुनाव के बाद भाजपा ने पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद दिया। पश्चिम बंगाल के विधानसभा के चुनाव Modi with Shah (1)-47ced018के करीब भारी संख्या में टीएमसी के बहुत सारे मंत्री और विधायकों ने भाजपा का दामन लिया क्यांेकि उन्हें पूरी विश्वास था कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने जा रही है। लेकिन चुनाव के बाद परिणाम ममता बनर्जी के हक में गये। लोगों की मंशा पर पानी फिर गया। इसके साथ मुकुल राॅय को भाजपा में वो सम्मान नहीं मिला जो उन्हें मिलना चाहिये था। प बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष मुकुल राॅय को बिल्कुल भी सम्मान नहीं करते। इसके साथ भाजपा की हार के बाद से और सुवंेदु अधिकारी का कद बीजेपी में काफी बढ़ गया। अधिकारी को पार्टी ने विधानसभा नेता प्रतिपक्ष बना दिया। जबकि मुकुल राॅय ने भी विधानसभा में जीत हासिल की थी। इसके बावजूद उनकी अनदेखी गयी थी। इन्हीं सब वजहों से मुकुल राॅय का मन बीजेपी से उचट गया और उन्होंने टीएमसी में जाना बेहतर समझा।

राॅय पर कसेगा पुलिस, ईडी और सीबीआई शिकंजा
आज से मुकुल राॅय के पीछे ईडी, सीबीआई और पुलिस का शिकंजा कसने लगेगा। इसका कारण राॅय का भाजपा से पल्ला झाड़ना हो सकता है। जब तक राॅय भाजपा में थे तो उन्हें किसी भी प्रकार की कार्रवाई से बचाया गया। लेकिन अब हालात बदल जायेंगे। अब राॅय टीएमसी के नेता बन गये है। बहुत जल्द ही यह सुना जायेगा कि मुकुल राॅय के आवास पर ई डी और सीबीआई के छापे पड़े हैं।
कई और बडे़ नेताओं और विधायकों की घर वापसी
रिजल्ट आने के कुछ दिनों बाद ही बहुत विधायकों और नेताओं ने टीएमसी में वापस आने की कोशिशें जारी कर इी थीं। उनमें सरला मुर्मू, सोनाली गुहा और फुटबाॅलर विश्वदीप ने तो ममता दीदी को पत्र लिख कर पार्टी ज्वाइन करने की फरियाद की थी। यह भी चर्चा में है कि भाजपा के 33 विधायक टीएमसी में फिर से जाने की फिराक में है। यह भी सुनने में आ रहा है कि पूर्व मंत्री और भाजपा नेता राजीव बनर्जी, शमिक प्रमाणिक भी घर वापसी की तैयारी में है। हाल ही में दिलीप घोष ने कोलकाता में प्रदेश स्तरीय बैठक बुलाई लेकिन उसमें न तो मुकुल राॅय पहुंचे और न ही राजीव बनर्जी। सुवेंदु अधिकारी और शमिक प्रमाणिक दिलीप घोष की बैठक में पहुंचे। तभी से यह लगने लगा कि बहुत से बड़े नेता टीएमसी में जाने वाले है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here