cm chauhan
Is CM Shivraj chauhan and Health min are agent of Patanjli

#BJP#MPNews#HimachalGovt.#MPGovt.#CMShivraj#CMJairamThakur#IndianPolitics#BJPCentralLeadership#
बीजपी में आजकल सत्ता परिवर्तन का दौर चल रहा है। इसका एक बड़ा कारण अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव हो सकता है। अब तक बीजेपी नेतृत्व ने मोदी और शाह के इशारे पर उत्तराखंड, कर्नाटक और गुजरात में अपने मुख्यमंत्रियों को ताश के पत्तों की तरह फेंट दिया है। ऐसा भी सुनाई दे रहा है कि सिलसिला अभी रुकने वाला नहीं है बल्कि लाइन में और भी प्रदेश हैं जिनके सीएम बदले जाने है। इस कतार में मध्यप्रदेश और हिमाचल के मुख्यमंत्री भी सुने जा रहे हैं।
हिमाचल में भी बीजेपी सत्ता परिवर्तन करना चाह रही है। पिछले एक सप्ताह में वहां के सीएम जयराम ठाकुर दिल्ली तलब किये जा चुके है। वहां भी सरकार का कामकाज ढंग से ने चल रहा है। कोरोना काल में भी सरकार ठीक से नियंत्रण नहीं लगा पायीथी। दूसरी प्राकृतिक आपदाओं में भी सरकार की विफलताएं सामने दिखीं। इन्हीं सब वजहों से यह अंदाज लगाया जा रहा है कि जय राम ठाकुर भी पद से हटाये जा सकते हैं। इसी लिये उन्हें बार बार दिल्ली बुलाया जा रहा है।
2019 में मध्य प्रदेश में जब से शिवराज ने सत्ता संभाली तब से अंदरूनी कलह और खींचतान मची हुई है। एक तरफ सीएम को अपने भाजपा के पुराने साथियों को भी एक जुट रखने के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थक विधायकों को भी नारज नहीं होने देना है क्योंकि उन्हीं के भर्रोे शिवराज की सत्ता कायम है। अगर पूर्व कांग्रेसी विधायक नाराज हो गये तो सत्ता से बेदखल हो सकते हैं। दूसरी बात यह है कि सरकार के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से शिवराज की जम नहीं रही है कई बार उनके बीच का मन मुटाव सार्वजनिक हो चुका है। अंदर ही अंदर कुछ खिचड़ी पक रही है। दो साल बाद एमपी में फिर से विधानसभा चुनाव होने हैं अगर यही हालात रहे तो प्रदेश में भाजपा को सत्ता पाने में परेशानी हो सकती है। वैसे भी मोदी सरकार और शिवराज सरकार के असली रूप से जनता वाकिफ हो गयी है। देश की जनता को समझ में आने लगा है कि भाजपा सिर्फ झूठे वादे और खोखले भाषण करती जिससे पेट नहीं भरा जा सकता है। मध्य प्रदेश में बीजेपी ने सरकार बनायी आज वहां हालात से बदहाल हैं। न अस्पतालों इलाज मिल रहा है और न ही डाक्टर। अंबुलेंस के अभाव रोगियों को साइकिल व ठेलों पर लाया जा रहा है। पुलिस की मनमानी सरकार की शह पर काफी बढ़ गयी है। संप्रदाय विशेष के लोगों पर पुलिसिया कहर चरम पर है। बीजेपी की शिवराज सरकार हालात पर काबू पाने विफल दिख रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here