PM Modi much popur but bjp would not win W Bengal

#Westbengalelection#PMModi#PKishor#Fivestates#Mamtabanerjee#

पांच प्रदेशों में चुनावी धूम की गूंज सुनायी दे रही है। चुनावी प्रचार करने में भाजपा नंबर वन मानी जा रही है। भाजपा अपने समर्थकों के साथ केरल, पुड्डूचेरी, तमिलनाडु, असम और वेस्ट बंगाल में चुनावी रथ को जीत में बदलने को जुटी हुई है। इसके बावजूद राजनीतिक गलियारे में यह बात चर्चा में है कि कितने प्रदेशों में भाजपा की सरकार बनती दिख रही है। इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि पीएम मोदी की लोकप्रियता काफी बढ़ी हुई है। भाजपा राजनीतिक दल के रूप में बहुत ही बड़ी पार्टी बन चुकी हहै। केन्द्र में भाजपा की सरकार संसाधनों में भी काफी मजबूत हेै। लेकिन इसके बावजूद चुनाव में उसकी जीत हो यह जरूरी नहीं है। यह बात राजनीतिक सलाहकार और चुनाव रणनीति निर्माता प्रशांत किशोर ने यह बयान दिया है।
प्रशांत किशोर ने वेस्ट बंगाल के चुनावों प्रचार पर कहा कि बीजेपी ने बंगाल फतह करने के लिये अपनी पूरी ताकत और सरकारी मशीनरी को जुटा दिया है। मोदी जी की लोकप्रियता इस चुनाव में भाजपा को काफी हद तक मदद करने में सफल होती दिखी है। इसके अलावा केन्द्रीय मंत्रियों की फौज और भाजपा शासित प्रदेशों के सीएम योगी, शिवराज, जेपी नड्डा, राजनाथ सिंह समेत अनेक सांसद प. बंगाल में डेरा डाले हुए हैं। उनका प्रयास है कि किसी तरह ममता और टीएमसी को बदनाम किया जाये। भाजपा की रणनीति यह है झूठ बोलो जोर से बोलों और लगातार बोलो ताकि लोगों को झूठ भी सच लगने लगे। इस मामले में उन्होंने ईडी, सीबीआई और आयकर विभाग को भी लगा दिया है। अन्य चुनावों के समय भी विपक्षी दलों के नेताओं के घरों पर इनकम टैक्स और ईडी के छापे डाले जाते थे। श्री किशोर आगेे कहा कि माना कि प्रचार में बीजेपी नंबर वन है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि बंगाल में भाजपा की सरकार बनने जा रही है। यहां मुकाबला काफी टक्कर का है। वेस्ट बंगाल में ममता बनर्जी का कद बहुत बड़ा है जिसे पूरे प्रदेश में भारी समर्थन मिल रहा है। टीएमसी की एक बार फिर सरकार बनने जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here