gautam-gambhir bjp
AAP candidate complaint EC against BJP Candidate

विनय गोयल

नयी दिल्ली। दिल्ली में आम चुनाव 12 मई को होने हैं इसके लिये सभी दलों के प्रत्याशियों ने चुनाव प्रचार तेज कर दिया है। आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी पिछले आठ दस माह से ही अपने क्षेत्र में जनसंपर्क कर लोगों के बीच अपनी पहचान बना रही है। बीजेपी ने पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर को अपना प्रत्याशी बनाया हैं। अभी बीजेपी उम्मीदवार का चुनाव प्रचार ठीक से शुरू भी नहीं हुआ था कि उसके खिलाफ चुनाव आयोग के निर्देश पर दिल्ली पुलिस ने आचार संहिता भंग करने का मामला दर्ज कर लिया है। इसके अलावा चुनाव आयोग भी उनके खिलाफ कार्रवाई करेगा।

अभी यह मामला शांत भी नहीं हुआ था कि आप उम्मीदवार एक बार फिर चुनाव आयोग पहुंचीं और बीजेपी उम्मीदवार के खिलाफ एक और लिखित शिकायत दर्ज कराते हुएं उन पर 72 घंटों का बैन लगाने की मांग की है।

आतिशी ने अपने पत्र में लिखा है कि बीजेपी प्रत्याशी ने 25 को जंगपुरा में प्रशासन की बिना अनुमति रैली निकाली थी। जिसकी उन्होंने चुनाव आयोग से शिकायत की थी। चुनाव आयोग ने दिल्ली पुलिस को गौतम गंभीर के खिलाफ मामला दर्ज कराने का आदेश दिया था। दिल्ली पुलिस ने गंभीर के खिलाफ दर्ज भी कर लिया है। लेकिन गंभीर ने तीन दिन में दूसरी बार आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए यह जता दिया है कि वो चुनाव आयोग के निर्देशों का उल्लंघन करते रहेंगे। वह एक आदतन अपराधी की तरह बर्ताव कर रहे हैं। अतः गौमत गंभीर पर 72 घंटों तक प्रचार न करने का बैन लगायें। आतिशी ने आयोग को जानकारी दी कि गौतम गंभीर ने 28 अप्रैल को दिलशाद गार्डन में सुबह साढ़े नौ बजे बिना इजाजत के रैली का आयोजन किया। यह चुनाव आयोग की सरासर अवहेलना है। उनकी पहली रैली पर चुनाव आयोग ने दिल्ली पुलिस को उनके खिलाफ आचार संहिता भंग करने का मामला दर्ज करने का निर्देश दिया था। लेकिन गंभीर ने दोबारा बिना प्रशासन की इजाजत रैली निकाल कर यह साबित कर दिया है चुनाव आयोग के निर्दश उनके लिये कोई मायने नहीं रखते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here