bheeam_army
Bheem Army Chief Chandrashehar Ravan will not contest from Varanasi

नयी दिल्ली। भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर रावण ने यह ऐलान कर सबको चैंका दिया कि अब वो वाराणसी से पीएम के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ेंगे। कुछ दिनों पहले उन्होंने यह ऐलान किया था कि वो वाराणसी के सांसद मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने जा रहे हैं। लेकिन अचानक उन्होंने अपने बयान से यू टर्न ले लिया है। उन्होंने इसके पीछे यह कारण बताया कि मेरे चुनाव लड़ने से महागठबंधन कमजोर होगा। इसका फायदा बीजेपी और पीएम मोदी को होगा। इस लिये में वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ूंगा। मैं सपा, बसपा और रालोद के प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार करूंगा।कुछ दिनों पहले भीम आर्मी चीफ और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के बीच मुलाकात हुई थी। उसके बाद से ही रावण ने यह ऐलान किया था कि वो पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लडंेगे। इस बीच माहौल में काफी बदलाव आ चुका है। सपा, बसपा और रालोद में गठबंधन हो चुका है। ऐसे में बीजेपी और मोदी सरकार के खिलाफ अच्छा खासा माहौल तैयार हो चुका है। ऐसे हालात में मोदी के लिये वाराणसी में सीट निकालना पहले जैसा आसान नहीं है। कांग्रेस ने भी प्रियंका गांधी को महासचिव बनाने के साथ पूर्वांचल का प्रभारी भी बना दिया है। इससे बीजेपी के लिये और परेशानियां बढ़ गयी है। यह भी चर्चा चल रही थी कि कांग्रेस वाराणसी से प्रियंका गांधी को उम्मीदवार बना सकती है। अगर ऐसा हुआ तो मोदी के लिये और भी खतरा बढ़ सकता है। लेकिन यह भी हो सकता है कि प्रियंका के खड़े होने से महागठबंधन के वोट बंट जायेंगे और मोदी को फायदा पहुंचेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here