पूर्व गेंदबाज अजीत आगरकर के साथ बातचीत में आकाश चोपड़ा ने अपनी आपबीती सुनाई. उन्होंने कहा कि धोनी को टीम में ना लेने की वजह से उन्हें सोशल मीडिया पर काफी कुछ सुनने को मिला.

नई दिल्ली: भारत के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने एक विश्लेषक के रूप में अपना नाम बनाया है. पिछले दिनों आकाश चोपड़ा ने आगामी टी 20 विश्व कप के लिए अपने 14-सदस्यीय टीम बनाई जिसमें उन्होंने पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को शामिल नहीं किया. जिसके बाद उन्हें सोशल मीडिया पर आलोचनाओं का सामना करना पड़ा.

भारत के पूर्व तेज गेंदबाज अजीत अगरकर के साथ चैट मे आकाश चोपड़ा ने बताया कि उन्हें कुछ दिनों के लिए सोशल मीडिया से दूर रहना पड़ा, क्योंकि उन्हें और उनके बच्चों को धोनी के फैंस खूब बुरा भला कह रहे थे.

आकाश चोपड़ा ने अजीत आगरकर को बताया, “आपकी बहुत मजबूत राय थी और मैंने एमएस धोनी के चयन के संबंध में आपकी राय में हां में हां मिलाई. मुझे कुछ दिनों के लिए सोशल मीडिया से दूरी बनानी पड़ी क्योंकि मुझे गालियां मिलने लगी यहां तक के मेरे बच्चों के साथ भी दुर्व्यवहार किया जाने लगा.”

बातचीत के दौरान अगरकर ने कहा कि वह अभी भी एमएस धोनी के विश्व कप में मैदान में आने को लेकर अनिश्चित हैं. अगरकर ने कहा था, “धोनी ने अब लगभग एक साल से क्रिकेट नहीं खेला है, लेकिन संन्यास भी नहीं लिया है. उन्हें चुनना है या नहीं, पूरी तरह से चयनकर्ताओं पर निर्भर है.”

बता दें कि एमएस धोनी आखिरी बार 2019 विश्व कप सेमीफाइनल के दौरान भारत के लिए खेले थे और तब से मैदान पर नहीं उतरे हैं. धोनी इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें संस्करण में चेन्नई सुपर किंग्स का नेतृत्व करने के लिए तैयार थे, लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने कोरोना वायरस के चलते एहतियात के तौर पर इस लीग को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया. हाल ही में बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि अगर आईपीएल नहीं हुआ तो बोर्ड को आधा अरब डॉलर का खर्च उठाना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें

Exclusive: राशिद खान के खिलाफ कीपिंग करना सबसे मुश्किल, मेरी नजर में सबसे बेहतरीन कप्तान धोनी- रिद्धिमान साहा

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन की कप्तानी खतरे में नहीं: न्यूजीलैंड क्रिकेट



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here