IIT दिल्ली की कोविड-19 टेस्टिंग किट का उत्पादन बेंगलुरु की कंपनी करेगी, जून में हो सकती है बाज़ार में उपलब्ध

आईआईटी दिल्ली का यह आविष्कार देश में कोरोनावायरस के संक्रमित मामलों को जल्द से जल्द पहचानने में मदद करेगा जिस कारण इलाज में भी तेजी होना संभव हो पाएगा.

नई दिल्ली: भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली की किफायती कोविड-19 परीक्षण किट का उत्पादन बेंगलुरु आधारित एक जैव प्रौद्योगिकी कंपनी करेगी.अधिकारियों के अनुसार इस किट के जून के प्रथम सप्ताह से उपलब्ध होने की संभावना है.

जेनेई लैबोरेटरीज द्वारा विशाखापत्तनम में आंध्र प्रदेश मेडटेक जोन में किट का बड़े पैमाने पर विनिर्माण किया जाएगा. यह प्रतिष्ठान खास तौर पर कोविड-19 परीक्षण किट के लिए स्थापित किया गया है.

आईआईटी दिल्ली के निदेशक वी रामगोपाल राव ने कहा कि जेनेई लैबोरेटरीज उन कंपनियों में से एक है जिन्हें किफायती कोविड-19 किट के उत्पादन के लिए आईआईटी दिल्ली से गैर विशिष्ट लाइसेंस मिला है.

आईआईटी के स्कूल ऑफ बायोलॉजिकल साइंसेस द्वारा कोरोनावायरस को डिटेक्ट करने वाली किट को 10 मेंबर्स की टीम ने बनाया है. जिसमें 4 प्रोफेसर और 6 पीएचडी स्कॉलर हैं. प्रोफेसर विवेकानन्दन पेरूमल , प्रोफेसर मनोज मेनन , प्रोफेसर विश्वजीत कुंडू, प्रोफेसर जेम्स गोम्स ने अपने छात्रों के सहयोग के साथ सम्मिलित काम किया और सफलता पाई है.

कोरोनावायरस के लक्षणों का पता लगाना अब भी चुनौती बना हुआ है जिस से वायरस का संक्रमण तेज़ी से पूरे विश्व में फैला है. संक्रमितों की पहचान हो जाने पर उनका इलाज भी जल्द से जल्द किया जा सकता है.

‘आत्मनिर्भर भारत’ के लिए 20 लाख करोड़ रु. के आर्थिक पैकेज का एलान, बढ़ेगा लॉकडाउन | पीएम मोदी की 10 बड़ी बातें

पीएम मोदी के संबोधन पर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी बोले- 20 लाख करोड़ का नंबर दिया, ब्योरा नहीं दिया

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here